People from place to place while reciting the poem ‘Don’t forget to live and live’

People from place to place while reciting the poem ‘Don’t forget to live and live’

‘भूलना’ क्रिया-रूप के प्रयोग पर जरूर ध्यान दिया होगा- ‘रोशनी फैलाना मत भूलना’, ‘छाँव देना मत भूलना’, ‘हँसना-हँसाना मत भूलना’ आदि। यहाँ परोक्ष रूप अनुज्ञा (आज्ञा, अनुरोध आदि) का बोध हो रहा और कुछ वाक्य लेते हैं

 

सदा सच बोलना। कभी झूठ मत बोलना। किसी को दुःख मत देना।

 

सुबह व्यायाम करना। यहाँ ‘बोलना’ ‘करना’ और ‘देना’ क्रियाओं अनुज्ञा का भाव प्रकट रहा है।

 

क्रिया का अनुज्ञा रूप कहते हैं। किया अनुज्ञा और हैं। आओ, कुछ और वाक्य लेते हैं

 

बाजार जा

 

तू खाना खा

 

तुम बाजार जाओ। आप बाजार जाइए। आप खाना खाइए।

 

तुम खाना खाओ।

 

यहाँ जाओ जाइए और खा खाओ खाइए इन क्रिया-रूपों जरिए प्रत्यक्ष रूप अनुज्ञा का भाव व्यक्त रहा अब तुमलोग ऐसे ‘आना’, ‘गाना’, ‘पढ़ना’, ‘लिखना’ और ‘बैठना’ क्रियाओं के अनुज्ञा रूप बनाकर वाक्यों प्रयोग करो तथा अपने शिक्षक/शिक्षिका को दिखाओ।

 

आओ, निम्नांकित वाक्यों को ध्यान पढ़े और समझें: सवेरे उगकर सूरज कहता खिलखिल कर फूल कहते हैं। बढ़ती हुई नदियाँ

 

कहती हैं।

 

इन वाक्यों रेखांकित क्रिया-पदों वर्तमान समय नियमित रूप किसी होने भाव प्रकट हो रहा और कुछ वाक्य लेते हैं

 

लड़का स्कूल जाता है।

 

लड़का स्कूल जा रहा

 

लड़का स्कूल जाता होगा।

 

लड़की स्कूल जाती

 

लड़की स्कूल जा रही लड़की स्कूल जाती होगी।

 

उपरोक्त वाक्यों रेखांकित क्रिया-पदों वर्तमान समय कुछ होने बोध हो रहा अतः वर्तमान काल क्रिया-पद हैं। वर्तमान काल क्रिया व्यापार की निरंतरता को सूचित करता है। इसके तीन भेद हैं- सामान्य वर्तमान काल तात्कालिक वर्तमान काल और संदिग्ध वर्तमान काल।

 

4.

 

तुम लोगों ‘जीना-जिलाना मत भूलना’ कविता को पढ़ते समय स्थान-स्थान पर

 

‘भूलना’ क्रिया-रूप के प्रयोग पर जरूर ध्यान दिया होगा- ‘रोशनी फैलाना मत भूलना’, ‘छाँव देना मत भूलना’, ‘हँसना-हँसाना मत भूलना’ आदि। यहाँ परोक्ष रूप अनुज्ञा (आज्ञा, अनुरोध आदि) का बोध हो रहा और कुछ वाक्य लेते हैं

 

सदा सच बोलना। कभी झूठ मत बोलना। किसी को दुःख मत देना।

 

सुबह व्यायाम करना। यहाँ ‘बोलना’ ‘करना’ और ‘देना’ क्रियाओं अनुज्ञा का भाव प्रकट रहा है।

 

क्रिया का अनुज्ञा रूप कहते हैं। किया अनुज्ञा और हैं। आओ, कुछ और वाक्य लेते हैं

 

बाजार जा

 

तू खाना खा

 

तुम बाजार जाओ। आप बाजार जाइए। आप खाना खाइए।

 

तुम खाना खाओ।

 

यहाँ जाओ जाइए और खा खाओ खाइए इन क्रिया-रूपों जरिए प्रत्यक्ष रूप अनुज्ञा का भाव व्यक्त रहा अब तुमलोग ऐसे ‘आना’, ‘गाना’, ‘पढ़ना’, ‘लिखना’ और ‘बैठना’ क्रियाओं के अनुज्ञा रूप बनाकर वाक्यों प्रयोग करो तथा अपने शिक्षक/शिक्षिका को दिखाओ।

 

आओ, निम्नांकित वाक्यों को ध्यान पढ़े और समझें: सवेरे उगकर सूरज कहता खिलखिल कर फूल कहते हैं। बढ़ती हुई नदियाँ

 

कहती हैं।

 

इन वाक्यों रेखांकित क्रिया-पदों वर्तमान समय नियमित रूप किसी होने भाव प्रकट हो रहा और कुछ वाक्य लेते हैं

 

लड़का स्कूल जाता है।

 

लड़का स्कूल जा रहा

 

लड़का स्कूल जाता होगा।

 

लड़की स्कूल जाती

 

लड़की स्कूल जा रही लड़की स्कूल जाती होगी।

 

उपरोक्त वाक्यों रेखांकित क्रिया-पदों वर्तमान समय कुछ होने बोध हो रहा अतः वर्तमान काल क्रिया-पद हैं। वर्तमान काल क्रिया व्यापार की निरंतरता को सूचित करता है। इसके तीन भेद हैं- सामान्य वर्तमान काल तात्कालिक वर्तमान काल और संदिग्ध वर्तमान काल।

 

39

4.

तुम लोगों ‘जीना-जिलाना मत भूलना’ कविता को पढ़ते समय स्थान-स्थान पर

‘भूलना’ क्रिया-रूप के प्रयोग पर जरूर ध्यान दिया होगा- ‘रोशनी फैलाना मत भूलना’, ‘छाँव देना मत भूलना’, ‘हँसना-हँसाना मत भूलना’ आदि। यहाँ परोक्ष रूप अनुज्ञा (आज्ञा, अनुरोध आदि) का बोध हो रहा और कुछ वाक्य लेते हैं

सदा सच बोलना। कभी झूठ मत बोलना। किसी को दुःख मत देना।

सुबह व्यायाम करना। यहाँ ‘बोलना’ ‘करना’ और ‘देना’ क्रियाओं अनुज्ञा का भाव प्रकट रहा है।

क्रिया का अनुज्ञा रूप कहते हैं। किया अनुज्ञा और हैं। आओ, कुछ और वाक्य लेते हैं

बाजार जा

तू खाना खा

तुम बाजार जाओ। आप बाजार जाइए। आप खाना खाइए।

तुम खाना खाओ।

यहाँ जाओ जाइए और खा खाओ खाइए इन क्रिया-रूपों जरिए प्रत्यक्ष रूप अनुज्ञा का भाव व्यक्त रहा अब तुमलोग ऐसे ‘आना’, ‘गाना’, ‘पढ़ना’, ‘लिखना’ और ‘बैठना’ क्रियाओं के अनुज्ञा रूप बनाकर वाक्यों प्रयोग करो तथा अपने शिक्षक/शिक्षिका को दिखाओ।

आओ, निम्नांकित वाक्यों को ध्यान पढ़े और समझें: सवेरे उगकर सूरज कहता खिलखिल कर फूल कहते हैं। बढ़ती हुई नदियाँ

कहती हैं।

इन वाक्यों रेखांकित क्रिया-पदों वर्तमान समय नियमित रूप किसी होने भाव प्रकट हो रहा और कुछ वाक्य लेते हैं

लड़का स्कूल जाता है।

लड़का स्कूल जा रहा

लड़का स्कूल जाता होगा।

लड़की स्कूल जाती

लड़की स्कूल जा रही लड़की स्कूल जाती होगी।

उपरोक्त वाक्यों रेखांकित क्रिया-पदों वर्तमान समय कुछ होने बोध हो रहा अतः वर्तमान काल क्रिया-पद हैं। वर्तमान काल क्रिया व्यापार की निरंतरता को सूचित करता है। इसके तीन भेद हैं- सामान्य वर्तमान काल तात्कालिक वर्तमान काल और संदिग्ध वर्तमान काल।

 

One thought on “People from place to place while reciting the poem ‘Don’t forget to live and live’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *